Category: देश-दुनिया

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी के समक्ष कांग्रेस के 300 कार्यकर्ताओं ने प्रवेश किया भाजपा

कोयलांचल की नगरी दीपका गेवरा में दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष सांसद प्रसिद्ध भोजपुरी गायक मनोज तिवारी ने चुनावी सभा को किया सम्बोधित भाजपा प्रत्याशी लखन देवांगन को भारी मतों से जीताने लोगों से की अपील

प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद प्रसिद्ध गायक मनोज तिवारी के दीपका गेवरा आगमन पर भारतीय जनता युवा मोर्चा के लगभग 500 कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली निकालकर किया स्वागत, कार्यक्रम में 300 कार्यकर्ताओं ने किया भाजपा प्रवेश ।

कोयलांचल की नगरी दीपका गेवरा में दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सांसद एवं प्रसिद्ध भोजपुरी गायक मनोज तिवारी ने छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कटघोरा विधानसभा के प्रत्याशी लखन देवांगन व भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने प्रतिक्षा बस स्टैंड दीपका में आयोजित कार्यक्रम में हजारों कार्यकर्ताओं से अपील किया साथ ही लखन देवांगन को सर्वाधिक मतों से विजयी बनाकर उन्हें मंत्री बनाकर सेवा का अवसर प्रदान करें, क्षेत्र को विकास कि श्रेणी में और अधिक ऊंचाइयों पर पहुंचाएं और मनोज तिवारी का मान रखें सर्वप्रथम मनोज तिवारी के हेलीपैड गेवरा स्टेडियम में उतरने पर सांसद डॉक्टर बंसीलाल महतो भाजपा प्रत्याशी लखन देवांगन भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक चावलानी ने स्वागत किया  तत्पश्चात भारतीय जनता युवा मोर्चा के लगभग 500 कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली के माध्यम से उन्हें कार्यक्रम स्थल तक लेकर आया  क्रमबद्ध भाजपा मंडल दीपका के पदाधिकारियों द्वारा स्वागत किया गया मनोज तिवारी के आगमन पर पूर्वांचल एवं स्थानीय लोगों में काफी उत्साह देखा गया इस अवसर पर संतोष गुप्ता किरपाल सिंह कंवर सुरभवन सिंह नरेंद्र यादव सोनू गुप्ता सहित लगभग 300 कार्यकर्ताओं ने भाजपा प्रवेश किए कार्यक्रम में भाजपा प्रत्याशी लखन देवांगन ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 5 सालों में कटघोरा विधानसभा क्षेत्र की जनता ने मुझे सेवा करने का जो आशीर्वाद दिया था निश्चित ही कटघोरा विधानसभा क्षेत्र को विकास कार्यों से आगे बढ़ाने का प्रयास किया गया है यहां के एक-एक नागरिक आम जनमानस की भावनाओं का सम्मान करते हुए लगातार प्रयासों से सबसे पिछड़ी हुई विधानसभा कटघोरा विधानसभा विकास की श्रेणी में नई ऊंचाइयों को हासिल कर नया कीर्तिमान स्थापित किया है पिछले 5 साल के कार्यकाल में कटघोरा विधानसभा के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में मूलभूत आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए निरंतर सीसी रोड निर्माण सामुदायिक भवन सांस्कृतिक मंच मुक्तिधाम आंगनबाड़ी भवन ग्राम पंचायत भवन स्कूल भवन हाई स्कूल भवन पुल पुलिया एनीकट स्टॉप डेम पचरी निर्माण जलाशय निर्माण विद्युत सबस्टेशन नाली निर्माण बाजार शेड निर्माण जैसे कार्य किए गए हैं, नगर पालिका दीपका में करोड़ों का मांगलिक भवन सामुदायिक भवन स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना विभिन्न वार्डों में सीसी रोड निर्माण सांस्कृतिक मंच जल आवर्धन का कार्य नाली निर्माण जैसे कार्य शामिल हैं कई कार्य प्रगति पर एवं अनेकों कार्य स्वीकृति हुई है दीपका बायपास का निर्माण दीपका से पाली मार्ग दीपका से हरदी बाजार बायपास सड़क तथा दीपका से चाकाबुडा जवाली मार्ग प्रगति पर है इस तरह से पूरे कटघोरा विधानसभा का तेजी के साथ विकास हुआ है इस अवसर पर क्षेत्रीय सांसद डॉक्टर बंशीलाल महतो भाजपा प्रत्याशी लखन देवांगन भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक चावलानी भाजपा जिला मंत्री प्रफुल्ल तिवारी शिवचरण राठौर किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष मनोज शर्मा नगरपालिका अध्यक्ष बुगल दुबे भाजपा दीपका मंडल अध्यक्ष द्वारिका शर्मा हरदी बाजार मंडल अध्यक्ष दुष्यंत शर्मा बाकी मोंगरा मंडल अध्यक्ष सतीश झा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष मीना शर्मा  विस्तारक छगन साहू अनुसूचित जाति जिलाअध्यक्ष नरेश टंडन शैल राठौर महामंत्री रमेश गुरुद्वान राजेंद्र राजपूत मंडल उपाध्यक्ष महेंद्र सिंह जितेंद्र राजपूत नंदु यादव मंत्री संजय जायसवाल  वरिष्ठ भाजपा नेता मनी सिंह बाबा भाजयुमो जिला महामंत्री नरेन्द्र देवांगन  सांसद प्रतिनिधि दीपक जायसवाल संतोष निराला भाजयुमो कार्यसमिति सदस्य राधेश्याम सिंह निमेश अग्रवाल अमन शर्मा मंडल अध्यक्ष राकेश सिंह उपाध्यक्ष निलेश साहू मंत्री धीरेंद्र तिवारी अरुण सोनी भरत जायसवाल पार्षद दीपक गिलहरे पंकज राठौर समारू कशेर रोहित जायसवाल राजुप्रजापति सौरभ सिंह गजेंद्र राजपूत एल्डरमैन बुधवारा देवांगन उत्तरा कुंभकार महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष ज्योति तिवारी महामंत्री अनीता पटेल कुसुमलता केवट सुभद्रा यादव  गौरव सिंह हितेश मित्तल सौरभ गुरुद्वान सहित विभिन्न मंडलों के पदाधिकारी विभिन्न मोर्चा प्रकोष्ठ के जिला एवं मंडल के पदाधिकारी एवं सदस्य के साथ हजारों भाजपा के कार्यकर्ता गण उपस्थित थे ।।

 

वाट्सअप पर आई नई फीचर

सबका संदेश 

इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने हाल ही में सभी यूजर्स के लिए स्टीकर फीचर की शुरुआत की है. इसके तहत यूजर्स चैट्स में स्टीकर्स भेज सकते हैं. कंपनी ने इसके लिए थर्ड पार्टी डेवेलपर्स के भी स्टीकर्स शामिल करने शुरू किए हैं.

इस फीचर की खासियत ये है कि अगर आप चाहें तो अपने फोटोज का कस्टम स्टीकर बना सकते हैं. यानी अपनी तस्वीर क्लिक करके इसे स्टीकर में तब्दील कर सकते हैं और वॉट्सएप्प पर सेंड कर सकते हैं. इसके लिए आपको कुछ स्टेप्स फौलो करने होंगे. कस्टम स्टीकर्स एंड्रॉयड और iOS यूजर्स बना सकते हैं.

सबसे पहले आपको जिस फोटो का स्टीकर बनाना है, उसके बैकग्राउंड फोटोशॉप या किसी भी ऐप के जरिए हटाना होगा जिसे वेक्टर इमेज या नो बैकग्राउंड इमेज भी कहते हैं. गूगल प्ले स्टोर में बैकग्राउंड एरेजर ऐप भी है जिससे आप फोटो का बैकग्राउंड हटा सकते हैं.

कस्टम स्टीकर्स के लिए आपका वॉट्सऐप नए वर्जन का होना चाहिए. जिसे फोटो का स्टीकर बनाना है उसे PNG फॉर्मेट में सेव करें. एक बार में 3 से 4 फोटोज सेव करें, क्योंकि एक से ज्यादा स्टीकर्स तैयार होते हैं.

गूगल प्ले स्टोर से पर्सनल स्टीकर्स फॉर वॉट्सऐप नाम का ऐप डाउनलोड करें. इसे ओपन करें. ओपन करते ही आपके स्मार्टफोन में स्टीकर्स के लिए जो भी तस्वीरें होंगी उसे यह ऐप खुद ही डिटेक्ट कर लेगा. फोटोज के सामने ऐड बटन दिखेगा इसे क्लिक करके फोटो ऐड कर लें.

अब वॉट्सऐप ओपन करके चैट्स में जाएं और यहां इमोजी आइकॉन पर क्लिक करें. यहां आपको स्टीकर्स का ऑप्शन दिखेगा. यहां क्लिक करें और अपने बनाए हुए स्टीकर्स सेंड कर सकते हैं. आपके द्वारा बनाए गए स्टीकर्स आपके स्टीकर पैक में सेव हो जाएंगे, इसलिए बार बार इन्हें बनाने की जरूरत नहीं होगी और आप किसी को भी भेज सकते हैं.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने किया सबका संदेश डॉट कॉम विमोचन

सबका संदेश न्यूज
sabkasandesh.com

आज दिनांक 18 मार्च 2018 को सबका संदेश डॉट कॉम का विमोचन माननीय मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के द्वारा  राजनानदगाव अपने निवासःमें “सांसद माननीय अभिषेख  सिह” व “लोकप्रिय महापौर मधुसूदन यादव जी” की उपस्थिति में राजननंदगाव में सम्पन्नन हुआ। बेमेतरा के बेरला ब्लाक के रिपोर्टर टिकेश साहू ने लेपटॉप से सबका संदेश की पूरी जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री जी से समाचार को प्रकाशन के विमोचन को करवाया डॉ रमन सिंह ने सबका संदेश के सम्पादक अभिताब नामदेव से खबरों की प्रशंसा करते हुए बीते दिनों की याद ताजा की,

और इस अवसर पर राजननंदगाव के वरिष्ठ पत्रकार श्रीरामचंद्र (मंजू बुक सेल्स)  रिपोर्टर सबका संदेश लक्मन यादव , राजेन्द्र नामदेव ,भोला यादव {प्रेसीडेंट यादव समाज},जैन समाज के युवा सदस्य व सबका संदेश रिपोर्टर रवि जैन सहित सैकड़ों की उपस्थिति में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। 

कार्यक्रम को समापन की ओर बढ़ाते हुए संपादक अभिताब नामदेव ने माननीय मुख्यमंत्री जी व युवा सांसद अभिषेक सिंह एवम भाजपा के सबसे एक्टिव व जन जन के प्रिय माननीय मधुसूदन यादव जी, एवम कवर्धा भाजयुमो अध्यक्ष माननीय कैलाश चंद्रवंसी जी का आभार व्यक्त किया।एवम सभी सम्मानित उपस्थित रिपोर्टरों से देश भक्ति को ध्यान में रखकर समाचार लिखने की सलाह दी।

 

कैसे करे माता की पूजन व कलश स्थापना आइए जाने

 

सबका संदेश न्यूज़ छतीसगढ़ कवर्धा – आओ माँ पराम्बा भगवती आपका स्वागत है माँ….
चैत्र नवरात्रि घटस्थापना….पण्डित देव दत्त शर्मा -सहसपुर लोहारा, कवर्धा

१८ मार्च २०१८ रविवार के शुभ मुहूर्त जैसे घटस्थापन, कलश-पूजन श्रीदुर्गा पूजादि करना चा‍हिए।
१८ मार्च २०१८ रविवार घटता हुआ
मुहूर्त समय.. ०६:२३ से ०७:४५
अवधि .. १ घण्टे २२ मिनट..

प्रतिपदा की तारीख प्रारम्भ…
१७ मार्च २०१८ को १८:४१ बजे।

प्रतिपदा तिथि समाप्ति
१८ मार्च २०१८ को १८:३१ बजे।

नवरात्रका प्रयोग प्रारम्भ करनेके पहले सुगन्धयुक्त तैलके उद्वर्तनादिसे मङ्गलस्त्रान करके नित्यकर्म करे और स्थिर शान्तिके पवित्र स्थानमें शुभ मृत्तिकाकी वेदी बनाये । उसमें जौ और गेहूँ – इन दोनोंको मिलाकर बोये । वहीं सोने, चाँदी, ताँबे या मिट्टीके कलशको यथाविधि स्थापन करके गणेशादिका पूजन और पुण्याहवाचन करे और पीछे देवी ( या देव ) के समीप शुभासनपर पूर्व या उत्तर मुख बैठकर….

“मम महामायाभगवती वा मायाधिपति भगवत प्रीतये आयुर्बलवित्तारोयसमादरादिप्राप्तये वा नवरात्रव्रतमहं करिष्ये ।

यह संकल्प करके मण्डलके मध्यमें रखे हु‌ए कलशपर सोने, चाँदी, धातु, पाषाण, मृत्तिका या चित्रमय मूर्ति विराजमान करे और उसका आवाहन आसन, पाद्य, अर्घ्य, आचमन, स्त्रान, वस्त्र, गन्ध, अक्षत, पुष्प, धूप, दीप, नैवेद्य, आचमन, ताम्बूल, नीराजन, पुष्पाञ्जलि, नमस्कार और प्रार्थना आदि उपचारोंसे पूजन करे ।

स्त्री हो या पुरुष, सबको नवरात्र करना चाहिये । यदि कारणवश स्वयं न कर सकें तो प्रतिनिधि ( पति पत्नी, ज्येष्ठ पुत्र, सहोदर या ब्राह्मण ) द्वारा करायें । नवरात्र नौ रात्रि पूर्ण होनेसे पूर्ण होता है । इसलिये यदि इतना समय न मिले या सामर्थ्य न हो तो सात, पाँच, तीन या एक दिन व्रत करे और व्रतमें भी उपवास, अयाचित, नक्त या एकभुक्त जो बन सके यथासामर्थ्य वही कर ले ।

यदि सामर्थ्य हो तो नौ दिनतक नौ ( और यदि सामर्थ्य न हो तो सात, पाँच, तीन या एक ) कन्या‌ओंको देवी मानका उनको गन्ध – पुष्पादिसे अर्चित करके भोजन कराये और फिर आप भोजन करे । व्रतीको चाहिये कि उन दिनोंमें भुशयन, मिताहार, ब्रह्मचर्यका पालन, क्षमा, दया, उदारता एवं उत्साहदिकी वृद्धि और क्रोध, लोभ, मोहादिका त्याग रखे ।

चैत्रके नवरात्रमें शक्तिकी उपासना तो प्रसिद्ध ही हैं, साथ ही शक्तिधरकी उपासना भी की जाती है । उदाहरणार्थ एक ओर देवीभागवत कालिकापुराण, मार्कण्डेयपुराण, नवार्णमन्त्नके पुरश्चरण और दुर्गापाठकी शतसहस्त्रायुतचण्डी आदि होते हैं

कलश स्थापना विधि:

नवरात्रि में कलश स्थापना देव-देवताओं के आह्वान से पूर्व की जाती है। कलश स्थापना करने से पूर्व आपको कलश और खेतरी को तैयार करना होगा जिसकी सम्पूर्ण विधि नीचे दी गयी है

सबसे पहले मिट्टी के बड़े पात्र में थोड़ी सी मिट्टी डालें। और उसमे जवारे के बीज डाल दें।

अब इस पात्र में दोबारा थोड़ी मिटटी और डालें। और फिर बीज डालें। उसके बाद सारी मिट्टी पात्र में दाल दें और फिर बीज डालकर थोडा सा जल डालें।

(ध्यान रहे इन बीजों को पात्र में इस तरह से लगाएं की उगने पर यह ऊपर की तरफ उगें। यानी बीजों को खड़ी अवस्था में लगायें। और ऊपर वाली लेयर में बीज अवश्य डालें।

अब कलश और उस पात्र की गर्दन पर मोली बांध दें। साथ ही तिलक भी लगाएं।

इसके बाद कलश में गंगा जल भर दें।

इस जल में सुपारी, इत्र, दूर्वा घास, अक्षत और सिक्का भी दाल दें।

अब इस कलश के किनारों पर ५ अशोक के पत्ते रखें। और कलश को ढक्कन से ढक दें।

अब एक नारियल लें और उसे लाल कपडे या कल चुन्नी में लपेट लें। चुन्नी के साथ इसमें कुछ पैसे भी रखें।

इसके बाद इस नारियल और चुन्नी को रक्षा सूत्र से बांध दें।

तीनों चीजों को तैयार करने के बाद सबसे पहले जमीन को अच्छे से साफ़ करके उसपर मिट्टी का जौ वाला पात्र रखें। उसके ऊपर मिटटी का कलश रखें और फिर कलश के ढक्कन पर नारियल रख दें।

आपकी कलश स्थापना सम्पूर्ण हो चुकी है। इसके बाद सभी देवी देवताओं का आह्वान करके विधिवत नवरात्रि पूजन करें। इस कलश को आपको नौ दिनों तक मंदिर में ही रखे देने होगा। बस ध्यान रखें की खेतरी में सुबह शाम आवश्यकतानुसार पानी डालते रहें।

चैत्र नवरात्रि २०१८ की महत्वपूर्ण तिथियां:

नवरात्रि का दिन तारीख (वार) तिथि
देवी का पूजन

नवरात्रि दिन १ :
१८ मार्च २०१८ (रविवार)
प्रतिपदा शैलपुत्री पूजा, कलश स्थापना

नवरात्रि दिन २ :
१९ मार्च २०१८ (सोमवार) द्वितीया
ब्रह्मचारिणी पूजा

नवरात्रि दिन ३ :
२० मार्च २०१८ (मंगलवार) तृतीया
चंद्रघंटा पूजा

नवरात्रि दिन ४ :
२१ मार्च २०१८ (बुधवार) चतुर्थी
कुष्मांडा पूजा

नवरात्रि दिन ५ :
२२ मार्च २०१८ (गुरुवार) पंचमी
स्कंदमाता पूजा

नवरात्रि दिन ६ :
२३ मार्च २०१८ (शुक्रवार) षष्ठी
कात्यायनी पूजा

नवरात्रि दिन ७ :
२४ मार्च २०१८ (शनिवार) सप्तमी, अष्टमी
कालरात्रि पूजा, महागौरी पूजा

नवरात्रि दिन ८ :
२५ मार्च २०१८ (रविवार) अष्टमी, नवमी
राम नवमि

नवरात्रि दिन ९ :
२६ मार्च २०१८ (सोमवार) दशमी
नवरात्रि पारण

नवरात्री में नौ देवियों की पूजा होती है ये नौ देवियाँ है….

१. शैलपुत्री

“शैल” का अर्थ है पहाड़। चूंकि माँ दुर्गा पर्वतों के राजा, हिमालय के यहाँ पैदा हुई थीं, इसी वजह से उन्हे पर्वत की पुत्री यानि “शैलपुत्री” कहा जाता है।

२. ब्रह्मचारिणी

इसका तात्पर्य है- तप का पालन करने वाली या फिर तप का आचरण करने वाली। इसका मतलब यह भी होता है, कि एक में ही सबका समा जाना। इसका यह भी अर्थ निकलता है,कि यह सम्पूर्ण संसार माँ दुर्गा का एक छोटा सा अंश मात्र ही है।

३. चंद्रघंटा

माता के इस रूप में उनके मस्तक पर घण्टे के आकार का अर्धचन्द्र अंकित है। इसी वजह से माँ दुर्गा का नाम चंद्रघण्टा भी है।

४. कूष्मांडा

इसका अर्थ समझने के लिए पहले इस शब्द को थोड़ा तोड़ा जाए। ‘कू’ का अर्थ होता है- छोटा। ‘इश’ का अर्थ- ऊर्जा एवं ‘अंडा’ का अर्थ- गोलाकार। इन्हें अगर मिलाया जाए तो इनका यही अर्थ है, कि संसार की छोटी से छोटी चीज़ में विशाल रूप लेने की क्षमता होती है।

५. स्कंदमता

दरअसल भगवान शिव और पार्वती के पुत्र कार्तिकेय का एक अन्य नाम स्कन्द भी है। अतः भगवान स्कन्द अर्थात कार्तिकेय की माता होने के कारण मां दुर्गा के इस रूप को स्कन्दमाता के नाम से भी लोग जानते हैं।

६. कात्यायनी

एक कथा के अनुसार महर्षि कात्यायन की कठोर तपस्या से प्रसन्न होकर उनके वरदान स्वरूप माँ दुर्गा उनके यहाँ पुत्री के रूप में पैदा हुई थीं। चूंकि महर्षि कात्यायन ने ही सबसे पहले माँ दुर्गा के इस रूप की पूजा की थी, अतः महर्षि कात्यायन की पुत्री होने के कारण माँ दुर्गा कात्यायनी के नाम से भी जानी जाती हैं।

७. कालरात्रि

मां दुर्गा के इस रूप को अत्यंत भयानक माना जाता है, यह सर्वदा शुभ फल ही देता है, जिस वजह से इन्हें शुभकारी भी कहते हैं। माँ का यह रूप प्रकृति के प्रकोप के कारण ही उपजा है।

८. महागौरी

माँ दुर्गा का यह आठवां रूप उनके सभी नौ रूपों में सबसे सुंदर है। इनका यह रूप बहुत ही कोमल, करुणा से परिपूर्ण और आशीर्वाद देता हुआ रूप है, जो हर एक इच्छा पूरी करता है.

९. सिद्धिदात्री

माँ दुर्गा का यह नौंवा और आखिरी रूप मनुष्य को समस्त सिद्धियों से परिपूर्ण करता है। इनकी उपासना करने से उनके भक्तों की कोई भी इच्छा पूर्ण हो सकती है। माँ का यह रूप आपके जीवन में कोई भी विचार आने से पूर्व ही आपके सारे काम को पूरा कर सकता है।

पूजा का कृत्य प्रारम्भ। प्रातःकाल नित्य स्नानादि कृत्य से फुरसत होकर पूजा के लिए पवित्र वस्त्र पहन कर उपरोक्त पूजन सामग्री व श्रीदुर्गासप्तशती की पुस्तक ऊँचे आसन में रखकर, पवित्र आसन में पूर्वाविमुख या उत्तराभिमुख होकर भक्तिपूर्वक बैठे और माथे पर चन्दन का लेप लगाएं, पवित्री मंत्र बोलते हुए पवित्री करण, आचमन, आदि को विधिवत करें। तत्पश्चात् दायें हाथ में कुश आदि द्वारा पूजा का संकल्प करे। आज ही नवरात्री मे नवदुर्गा पूजन हेतु अपना स्थान सुरक्षित करे |

सभी प्रकार की कामनाओ हेतु :

०१)
देहि सौभाग्यमारोग्यं देहि मे परमं सुखम्।
रूपं देहि जयं देहि यषो देहि द्विषो जहि।।

अगर आप की अनावश्यक विलम्ब हो रहा है तो इस मंत्र का प्रयोग करते हुए पाठ करे

०२)
पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीम्। तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम्।।

रोग से छुटकारा पाने के लिए:

०३)
रोगानषेषानपहंसि तुष्टा रूष्टा तु कामान् सकलानभीष्टान्।
त्वामाश्रितानां न विपन्नराणां त्वामाश्रिता ह्याश्रयतां प्रयान्ति।

पूजन करने की विधि: 
मंत्रों से तीन बार आचमन करें।

०४) 
मंत्र ॐ केशवाय नमः,
ॐ नारायणाय नमः,
ॐ माधवाय नमः

०५) 
हृषिकेषाय नमः बोलते हुए हाथ धो लें।

०६) आसन धारण के मंत्र: 
ॐ पृथ्वि त्वया धृता लोका देवि त्वं विष्णुना धृता। त्वं च धारय मां देवि पवित्रं कुरू चासनम्।।

०७) पवित्रीकरण हेतु मंत्र:
ॐ अपवित्रः पवित्रो वा सर्वावस्थांगतोऽपि वा। यः स्मरेत्पुण्डरीकाक्षंतद्बाह्याभ्यन्तरं शुचि।।

०८) चंदन लगाने का मंत्रः 
ॐ आदित्या वसवो रूद्रा विष्वेदेवा मरूद्गणाः। तिलकं ते प्रयच्छन्तु धर्मकामार्थसिद्धये।।

रक्षा सूत्र मंत्र (पुरूष को दाएं तथा स्त्री को बांए हाथ में बांधे)

०९) मंत्रः
ॐ येनबद्धोबली राजा दानवेन्द्रो महाबलः।तेनत्वाम्अनुबध्नामि रक्षे माचल माचल ।।

१०) दीप जलाने का मंत्रः
ॐ ज्योतिस्त्वं देवि लोकानां तमसो हारिणी त्वया। पन्थाः बुद्धिष्च द्योतेताम् ममैतौ तमसावृतौ।।

११) संकल्प की विधिः
ॐ विष्णुर्विष्णुर्विष्णुः, ॐ नमः परमात्मने, श्रीपुराणपुरूषोत्तमस्य श्रीविष्णोराज्ञया प्रवर्तमानस्याद्य श्रीब्रह्मणो द्वितीयपराद्र्धे श्रीष्वेतवाराहकल्पे वैवस्वतमन्वन्तरे- ऽष्टाविंषतितमे कलियुगे प्रथमचरणे जम्बूद्वीपे भारतवर्षे

श्रुतिस्मृतिपुराणोक्तफलप्राप्तिकामः अमुकगोत्रोत्पन्नः अमुकषर्मा अहं ममात्मनः सपुत्रस्त्रीबान्धवस्य श्रीनवदुर्गानुग्रहतोल

आदि मंत्रो को शुद्धता से बोलते हुए शास्त्री विधि से पूजा पाठ का संकल्प लें।

प्रथमतः श्री गणेश जी का ध्यान, आवाहन, पूजन करें।

१२) श्री गणश मंत्र: 
ॐ वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटिसमप्रभ।
निर्विध्नं कुरू मे देव सर्वकायेषु सर्वदा।।

कलश स्थापना के नियम :–

पूजा हेतु कलश सोने, चाँदी, तांबे की धातु से निर्मित होते हैं, असमर्थ व्यक्ति मिट्टी के कलश का प्रयोग करत सकते हैं। ऐसे कलश जो अच्छी तरह पक चुके हों जिनका रंग लाल हो वह कहीं से टूटे-फूटे या टेढ़े न हो, दोष रहित कलश को पवित्र जल से धुल कर उसे पवित्र जल गंगा जल आदि से पूरित करें। कलश के नीचे पूजागृह में रेत से वेदी बनाकर जौ या गेहूं को बौयें और उसी में कलश कुम्भ के स्थापना के मंत्र बोलते हुए उसे स्थाति करें। कलश कुम्भ को विभिन्न प्रकार के सुगंधित द्रव्य व वस्त्राभूषण अंकर सहित पंचपल्लव से आच्छादित करें और पुष्प, हल्दी, सर्वोषधी अक्षत कलश के जल में छोड़ दें। कुम्भ के मुख पर चावलों से भरा पूर्णपात्र तथा नारियल को स्थापित करें। सभी तीर्थो के जल का आवाहन कुम्भ कलश में करें।

कलश स्थापन मुहूर्त।
सूर्योदय: ०६, १९ ,,
सूर्यास्त: १८ ,,२३

चन्द्रोदय: ०६ ,,५३
चन्द्रास्त: १९,,१४

१८ मार्च सन् २०१८ विक्रमी संवत् २०७५,
दिन रविवार, प्रात: ०६:२३ से ०७:४५ ,,
समय १ घण्टा १, २२

के बाद अभिजीत मुहूर्त मे लगभग दोपहर ११:५७ से १२:४७ तक रहेगा।

*१३) आवाहन मंत्र करें: 
ॐ कलषस्य मुखे विष्णुः कण्ठे रूद्रः समाश्रितः।
मूले त्वस्य स्थितो ब्रह्मा मध्ये मातृगणाः स्मृताः।।

गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वति ।
नर्मदे सिन्धु कावेरि जलेऽस्मिन् सन्निधिं कुरू ।।

षोडषोपचार पूजन प्रयोग विधि –

१४) आसन (पुष्पासनादि): 
ॐ अनेकरत्न-संयुक्तं नानामणिसमन्वितम्। कात्र्तस्वरमयं दिव्यमासनं प्रतिगृह्यताम्।।

१५) पाद्य (पादप्रक्षालनार्थ जल):
ॐ तीर्थोदकं निर्मलऽचसर्वसौगन्ध्यसंयुतम्। पादप्रक्षालनार्थाय दत्तं तेप्रतिगृह्यताम्।।

१६) अघ्र्य (गंध पुष्प्युक्त जल): 
ॐ गन्ध-पुष्पाक्षतैर्युक्तं अध्र्यंसम्मपादितं मया।गृह्णात्वेतत्प्रसादेन अनुगृह्णातुनिर्भरम्।।

१७) आचमन (सुगन्धित पेय जल): 
ॐ कर्पूरेण सुगन्धेन वासितं स्वादु षीतलम्। तोयमाचमनायेदं पीयूषसदृषं पिब।।

१८) स्नानं (चन्दनादि मिश्रित जल):
ॐ मन्दाकिन्याः समानीतैः कर्पूरागरूवासितैः।पयोभिर्निर्मलैरेभिःदिव्यःकायो हि षोध्यताम्।।

१९) वस्त्र (धोती-कुत्र्ता आदि):
ॐ सर्वभूषाधिके सौम्ये लोकलज्जानिवारणे। मया सम्पादिते तुभ्यं गृह्येतां वाससी षुभे।।

२०) आभूषण (अलंकरण):
ॐ अलंकारान् महादिव्यान् नानारत्नैर्विनिर्मितान्। धारयैतान् स्वकीयेऽस्मिन् षरीरे दिव्यतेजसि।।

२१) गन्ध (चन्दनादि):
ॐ श्रीकरं चन्दनं दिव्यं गन्धाढ्यं सुमनोहरम्। वपुषे सुफलं ह्येतत् षीतलं प्रतिगृह्यताम्।।

२२) पुष्प (फूल):
ॐ माल्यादीनि सुगन्धीनि मालत्यादीनि भक्त्तितः।
मयाऽऽहृतानि पुष्पाणि पादयोरर्पितानि ते।।

२३) धूप (धूप):
ॐ वनस्पतिरसोद्भूतः सुगन्धिः घ्राणतर्पणः।सर्वैर्देवैः ष्लाघितोऽयं सुधूपः प्रतिगृह्यताम्।।

२४) दीप (गोघृत):
ॐ साज्यः सुवर्तिसंयुक्तो वह्निना द्योतितो मया।गृह्यतां दीपकोह्येष त्रैलोक्य-तिमिरापहः।।

*२५) नैवेद्य (भोज्य)*
ॐ षर्कराखण्डखाद्यानि दधि-क्षीर घृतानि च। रसनाकर्षणान्येतत् नैवेद्यं प्रतिगृह्यताम्।।

*२६) आचमन (जल)*
ॐ गंगाजलं समानीतं सुवर्णकलषस्थितम्। सुस्वादु पावनं ह्येतदाचम मुख-षुद्धये।।

*२७) दक्षिणायुक्तताम्बूल(द्रव्य पानपत्ता): 
ॐ लवंगैलादि-संयुक्तं ताम्बूलं दक्षिणां तथा। पत्र-पुष्पस्वरूपां हि गृहाणानुगृहाण माम्।।

२८) आरती (दीप से): 
ॐ चन्द्रादित्यौ च धरणी विद्युदग्निस्तथैव च। त्वमेव सर्व-ज्योतींषि आर्तिक्यं प्रतिगृह्यताम्।।

२९) परिक्रमाः
ॐ यानि कानि च पापानि जन्मांतर-कृतानि च। प्रदक्षिणायाः नष्यन्तु सर्वाणीह पदे पदे।।

भागवती एवं उसकी प्रतिरूप देवियों की एक परिक्रमा करनी चाहिए।यदि चारों ओर परिक्रमा का स्थान न हो तो आसन पर खड़े होकर दाएं घूमना चाहिए।

३०) क्षमा प्रार्थना: 
ॐ आवाहनं न जानामि न जानामि विसर्जनम्। पूजां चैव न जानामि भक्त एष हि क्षम्यताम्।। अन्यथा शरणं नास्ति त्वमेव शरणं मम। तस्मात्कारूण्यभावेन भक्तोऽयमर्हति क्षमाम्।। मंत्रहीनं क्रियाहीनं भक्तिहीनं तथैव च। यत्पूजितं मया ह्यत्र परिपूर्ण तदस्तु मे।।

३१ )
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः। सर्वे भद्राणि पष्यन्तु मा कष्चिद् दुःख-भाग्भवेत् ।

चैत्र नवरात्रि की हार्दिक बधाई शुभकामनाएँ पण्डित देव दत्त शर्मा सहसपुर लोहारा, कवर्धा

 

सबका संदेश 9425569117

उतरप्रदेश में योगी (भाजपा) को करारी हार मिली

उतरप्रदेश- गोरखपुर सदर संसदीय सीट के उपचुनाव में बड़ा उलटफेर हुआ है। सपा ने 29 साल बाद भाजपा का किला ढहाया और 21,881 वोटों के अंतर से चुनाव जीतकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बड़ा झटका दिया है। यह सीट योगी आदित्यनाथ के सांसद पद छोड़ने के बाद खाली हुई थी। उनकी प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी थी। 1989 से ही यह सीट गोरक्षपीठ और भाजपा के पास थी। यही नहीं मुख्यमंत्री योगी ने जिस बूथ पर वोट डाला था, वहां भी भाजपा हार गई है।
सपा ने 21,881 मतों से हासिल की जीत
 
गोरखपुर सदर लोकसभा क्षेत्र की मतगणना बुधवार को सुबह आठ बजे से शुरू हुई। पहले चरण की मतगणना में भाजपा प्रत्याशी उपेंद्र दत्त शुक्ला आगे रहे। दूसरे चरण की मतगणना ने सपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद ने बढ़त बनाई और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। बसपा, पीस पार्टी, निषाद पार्टी, रालोद और वामपंथी दलों के समर्थन से चुनाव मैदान में उतरी सपा की साइकिल तेज गति से दौड़ी और शहर के साथ ही ग्रामीण विधानसभा क्षेत्रों में खूब वोट बटोरे। 

सपा ने 21,881 मतों से हासिल की जीत
 
गोरखपुर सदर लोकसभा क्षेत्र की मतगणना बुधवार को सुबह आठ बजे से शुरू हुई। पहले चरण की मतगणना में भाजपा प्रत्याशी उपेंद्र दत्त शुक्ला आगे रहे। दूसरे चरण की मतगणना ने सपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद ने बढ़त बनाई और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। बसपा, पीस पार्टी, निषाद पार्टी, रालोद और वामपंथी दलों के समर्थन से चुनाव मैदान में उतरी सपा की साइकिल तेज गति से दौड़ी और शहर के साथ ही ग्रामीण विधानसभा क्षेत्रों में खूब वोट बटोरे। 

 मुख्यमंत्री योगी का बूथ भी नहीं जीत सकी भाजपा

कांग्रेस की करारी हार, प्रत्याशी डॉ. सुरहीता करीम की जमानत जब्त 

सपा को मुस्लिम, यादव, दलित और निषादों के अच्छे वोट मिले हैं। वहीं उपचुनाव में कांग्रेस को करारी शिकस्त मिली है। कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. सुरहीता करीम की जमानत जब्त हो गई है। उन्हें महज 18 हजार 844 वोट मिले हैं। सात और निर्दलीय प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई है। हालांकि उपचुनाव की मतगणना धीमी चली। पांच राउंड की मतगणना पूरी हो गई, फिर एक राउंड का नतीजा घोषित किया गया। इस पर कई बार विवाद भी हुआ और मामला चुनाव आयोग तक जा पहुंचा। सपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद ने जिला निर्वाचन अधिकारी राजीव रौतेला पर चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया। इसे लेकर धरना-प्रदर्शन भी किया गया। शिकायत पर चुनाव आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी से जवाब-तलब किया है।


 वोट किसको कितनी मिली
 
प्रत्याशी                            पार्टी             मिले वोट
प्रवीण कुमार निषाद            सपा              4,56,437
उपेंद्र दत्त शुक्ला                भाजपा             4,34,476
डॉ. सुरहीता करीम            कांग्रेस              18,844
अवधेश निषाद                निर्दलीय              2825
गिरीश नारायण पांडेय      निर्दलीय               1678
नरेंद्र कुमार महंथा            निर्दलीय              1717
मालती देवी                    निर्दलीय              2421
राधेश्याम सेहरा               निर्दलीय              2003
विजय कुमार राव             निर्दलीय              1818
सरवन कुमार निषाद         निर्दलीय              3252
                                                कुल पड़े मत  9,33,792

12 मार्च की राशिफल जानिए-बता रहे है जानेमाने वास्तु शाष्त्री अजित जी से

मेष राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>दोस्त की बेरुख़ी आपको नाराज़ करेगी। लेकिन ख़ुद को शांत रखें। इस बात को परेशानी न बनने दें और इससे बचने की कोशिश करें। इस बात में सावधानी बरतें कि आप किसके साथ आर्थिक लेन-देन कर रहे हैं। दोस्त मददगार और सहयोगी रहेंगे। सैर-सपाटे पर जाने का कार्यक्रम बन सकता है, जो आपकी ऊर्जा और उत्साह को तरोताज़ा कर देगा। नई योजनाएँ आकर्षक होंगी और अच्छी आमदनी का ज़रिया साबित होंगी। महत्वपूर्ण लोगों के साथ बातचीत करते वक़्त अपने शब्दों को ग़ौर से चुनें। जीवनसाथी के साथ आज की शाम वाक़ई कुछ ख़ास होने वाली है।

वृष राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>आपको कोई ग़लत जानकारी मिल सकती है, जिसके चलते आप मानसिक तनाव का शिकार हो सकते हैं। केवल एक दिन को नज़र में रखकर जीने की अपनी आदत पर क़ाबू करें और ज़रूरत से ज़्यादा वक़्त व पैसा मनोरंजन पर ख़र्च न करें। मुमकिन है कि माता-पिता आपकी बात को ग़लत तरह से समझें, क्योंकि आपने अपनी बात भली-भांति उनके सामने न रखी हो। सुनिश्चित करें कि आपकी बात उन्हें ठीक तरीक़े से समझ में आए। आपका रुमानी संबंध आज थोड़ी परेशानी में पड़ सकता है। आपने भली-भांति काम किया है, इसलिए अब उसके फ़ायदे लेने का समय है। वक़ील के पास जाकर क़ानूनी सलाह लेने के लिए अच्छा दिन है। आपके जीवनसाथी की मांगें तनाव का कारण बन सकती हैं।

मिथुन राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>माता-पिता का स्वास्थ्य चिंता का कारण बन सकता है। आपके ख़र्चों में बढ़ोतरी होगी, जो आपके लिए परेशानी का सबब साबित हो सकती है। बेकार का वाद-विवाद परिवार में तनाव का माहौल पैदा कर सकता है। याद रखें कि वाद-विवाद से हासिल जीत दरअसल जीत नहीं होती और उससे किसी के दिल को क़तई नहीं जीता जा सकता है। जहाँ तक हो सके, अपनी समझदारी का इस्तेमाल कर इससे बचें। अपने से बड़ों की बातें ग़ौर से सुनें और समस्याओं को हल करने के लिए ठण्डे दिमाग़ से सोचें। अपने प्रिय की बातों के प्रति आप ज़रूरत से ज़्यादा संवेदनशील रहेंगे- आपको अपने जज़्बात पर क़ाबू रखने की ज़रूरत है और ऐसा कुछ करने से बचें जो मामले को और भी बिगाड़ दे। किसी साझीदारी वाले व्यवसाय में जाने से बचें – क्योंकि मुमकिन है कि भागीदार आपका बेजा फ़ायदा उठाने की कोशिश करें। आज लोग आपकी वह प्रशंसा करेंगे, जिसे आप हमेशा से सुनना चाहते थे। रिश्तेदारों को लेकर जीवनसाथी के साथ नोंकझोंक हो सकती है।

कर्क राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>जैसे ही आप हालात पर पकड़ बनाने की कोशिश शुरू करेंगे, आपकी घबराहट ग़ायब हो जाएगी। जल्दी ही आप पाएंगे कि यह परेशानी साबुन के उस बुलबुले की तरह है, जो छूते ही फूट जाता है। लम्बे समय से अटके मुआवज़े और कर्ज़ आदि आख़िरकार आपको मिल जाएंगे। पारिवारिक तनावों को गम्भीरता से लें, लेकिन बेकार की चिंता सिर्फ़ मानसिक दबाव में ही इज़ाफ़ा करेगी। मामले को परिवार के दूसरे सदस्यों की मदद जल्द-से-जल्द निबटाने की कोशिश करें और ख़ुद को तनाव का सामना करने के लिए तैयार रखें। रोमांस के लिए अच्छा दिन है। अपना बायोडाटा भेजने या किसी इंटरव्यू में जाने के लिए अच्छा समय है। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। आज के दिन जीवन साथी पर किया गया संदेह आने वाले दिनों में आपके वैवाहिक जीवन पर बुरा प्रभाव डाल सकता है।

सिंह राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>अपने स्वास्थ्य को नज़रअन्दाज़ न करें, शराब से बचें। समूहों में शिरकत दिलचस्प, लेकिन ख़र्चीली रहेगी, ख़ास तौर पर अगर आप दूसरों पर ख़र्च करना नहीं बन्द करेंगे तो। बच्चे आपके दिन को बहुत मुश्किल बना सकते हैं। प्यार-दुलार के हथियार का इस्तेमाल कर उन्हें समझाएँ और अनचाहे तनाव से बचें। याद रखें कि प्यार ही प्यार को पैदा करता है। आज प्यार के नज़रिए से दिन काफ़ी विवादास्पद रहेगा। आप ऐसी योजनाओं को अमली जामा पहनाने की स्थिति में होंगे, जो कई लोगों को प्रभावित करेगी। अगर आप किसी परिस्थिति से घबराकर भागेंगे- तो वह आपका पीछा हर निकृष्ट तरीक़े से करेगी। जीवनसाथी के साथ वाद-विवाद होने की काफ़ी संभावना है।

कन्या राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>पेचीदा हालात में फँसने पर घबराएँ नहीं। जैसे खाने में थोड़ा-सा तीखापन उसे और भी लज़ीज़ बना देता है, उसी तरह ऐसी परिस्थितियाँ आपको ख़ुशियों की सही क़ीमत बताती हैं। अपना मूड बदलने के लिए किसी सामाजिक आयोजन में शिरकत करें। बोलते समय और वित्तीय लेन-देन करते समय सावधानी बरतने की ज़रूरत है। आपके निरंकुश व्यवहार के चलते पारिवारिक सदस्य ख़फ़ा हो सकते हैं। प्रेम का आह्लाद महसूस करने के लिए आप किसी नए व्यक्ति से मिल सकते हैं। अपने बॉस/वरिष्ठों को घर पर बुलाने के लिए अच्छा दिन नहीं है। अगर आप अपनी चीज़ों का ध्यान नहीं रखेंगे, तो उनके खोने या चोरी होने की संभावना है। दिन वाक़ई रोमानी है। बढ़िया खाने, महक और ख़ुशी के साथ आप अपने हमदम के साथ बेहतरीन समय बिता सकते हैं।

तुला राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>उन लोगों की तरह बर्ताव न करें जो अपने सपनों की ख़ातिर अपने घर और सेहत को क़ुर्बान कर देते हैं और सिर्फ़ अपनी महत्वाकांक्षाओं के पीछे भागते हैं। आपकी लगन और मेहनत पर लोग ग़ौर करेंगे और आज इसके चलते आपको कुछ वित्तीय लाभ मिल सकता है। कुछ दिनों से आपका व्यक्तिगत जीवन ही आपके ध्यान का केंद्र रहा है। लेकिन आज आप सामाजिक कार्यों पर ज़्यादा ध्यान देंगे और ज़रूरतमंदों की मदद करने की कोशिश करेंगे। आज प्यार की मदहोशी में हक़ीक़त और फ़साना मिलकर एक होते मालूम होंगे। इसे महसूस करें। हो सकता है कि आपकी वजह से दफ़्तर में कुछ बड़ा नुक़सान हो जाए, इसलिए सोच-समझकर हर काम करें। ऐसे लोगों से जुड़ने से बचें जो आपकी प्रतिष्ठा को आघात पहुँचा सकते हैं। आपका जीवनसाथी अन्य दिनों की अपेक्षा आपका ज़्यादा ख़्याल रखेगा।

वृश्चिक राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>अपने दफ़्तर से जल्दी निकलने की कोशिश करें और वे काम करें जिन्हें आप वाक़ई पसंद करते हैं। आज का दिन ऐसी चीज़ों को ख़रीदने के लिए बढ़िया है, जिनकी क़ीमत आगे चलकर बढ़ सकती है। घर के लोग आपके ख़र्चीले स्वभाव की आलोचना करेंगे। आपको भविष्य के लिए पैसे जमा करने चाहिए, नहीं तो आगे आप मुश्किल में पड़ सकते हैं। अपने साथी के साथ बाहर जाते वक़्त ठीक तरह से व्यवहार करें। कामकाज के मामलों को सुलझाने के लिए अपनी होशियारी और प्रभाव का इस्तेमाल करें। यात्रा आपके लिए आनन्ददायक और बहुत फ़ायदेमंद होगी। अलग-अलग नज़रिए के चलते आपके और आपके जीवनसाथी के बीच वाद-विवाद हो सकता है।

धनु राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>लंबे समय से चली आ रही अपनी बीमारी का इलाज अपनी मुस्कान से करें, क्योंकि यह सभी परेशानियों की सबसे कारगर दवा है। रियल एस्टेट और वित्तीय लेन-देन के लिए अच्छा दिन है। आप महसूस करेंगे कि दोस्त और रिश्तेदार आपकी ज़रूरतों को नहीं समझते हैं। लेकिन ज़रूरत दूसरों में बदलाव लाने की नहीं, बल्कि ख़ुद में बदलाव लाने के लिए ईमानदार कोशिश करने की है। आज जीवन से रोमांटिक पहलू ओझल-सा रहेगा। आज आपकी दृढ़ता और लगन सफलता हासिल करेंगे, क्योंकि आप लक्ष्य भेदने में क़ामयाब रहेंगे। हालाँकि सफलता के नशे को सिर पर न चढ़ने दें और ईमानदारी से कड़ी मेहनत जारी रखें। आप चाहें तो परेशानियों को मुस्कुराकर दरकिनार कर सकते हैं या उनमें फँसकर परेशान हो सकते हैं। चुनाव आपको करना है। आपके वैवाहिक जीवन के लिए यह कठिन समय है।

मकर राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>क़ुदरत ने आपको आत्मविश्वास और तेज़ दिमाग़ से नवाज़ा है- इसलिए इनका भरपूर इस्तेमाल कीजिए। अतिरिक्त आय के लिए अपने सृजनात्मक विचारों का सहारा लें। आपका मूडी रवैया आपके भाई का मिज़ाज ख़राब कर सकता है। स्नेह के बंधन को बनाए रखने के लिए आपको परस्पर सम्मान और विश्वास पैदा करने की ज़रूरत है। इकतरफ़ा प्यार आपके लिए काफ़ी ख़तरनाक साबित होगा। नौकरों और सहकर्मियों से परेशानी होने की संभावना को ख़ारिज नहीं किया जा सकता है। अपने काम और शब्दों पर ग़ौर करें क्योंकि आधिकारिक आंकड़े समझने में मुश्किल होंगे, अगर आप कुछ गड़बड़ करते हैं तो। आज आपका जीवनसाथी आपकी सेहत के प्रति असंवेदनशील हो सकता है।

कुम्भ राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>काम का दबाव बढ़ने के साथ ही आप मानसिक उथल-पुथल और दिक़्क़त महसूस करेंगे। हँसी-मज़ाक में कही गयी बातों को लेकर किसी पर शक़ करने से बचें। यह परिवार में दबदबा बनाए रखने की अपनी आदतों को छोड़ने का वक़्त है। ज़िंदगी के उतार-चढ़ाव में उनके कंधे से कंधा मिलाकर साथ दें। आपका बदला हुआ बर्ताव उनके लिए ख़ुशी का सबब साबित होगा। प्यार का भरपूर लुत्फ़ मिल सकता है। काम और घर पर दबाव आपको थोड़ा ग़ुस्सैल बना सकता है। आप जिस प्रतियोगिता में भी क़दम रखेंगे, आपका प्रतिस्पर्धी स्वभाव आपको जीत दिलाने में सहयोग देगा। मुमकिन है कि आज आपका जीवनसाथी ख़ूबसूरत शब्दों में यह बताए कि आप उनके लिए कितने क़ीमती हैं।

मीन राशि का कल का राशिफल (12 मार्च, 2018)<br/><br/>बेहतर ज़िन्दगी के लिए अपनी सेहत और व्यक्तित्व में सुधार लाने कि कोशिश करें। आज आप आसानी से पैसे इकट्ठा कर सकते हैं- लोगों को दिए पुराने कर्ज़ वापिस मिल सकते हैं- या फिर किसी नयी परियोजना पर लगाने के लिए धन अर्जित कर सकते हैं। घरेलू ज़िंदगी सुकूनभरी और ख़ुशनुमा रहेगी। किसी के साथ ज़रूरत से जल्दी दोस्ती करने से बचें, क्योंकि इसके चलते आपको बाद में पछताना पड़ सकता है। आज कार्यालय में आपको कुछ अच्छा समाचार सुनने को मिल सकता है। कुछ लोगों के लिए आकस्मिक यात्रा दौड़-भाग भरी और तनावपूर्ण रहेगी। आपके साथी का असीम प्यार और समर्थन आपके प्यार के बंधन को और मजबूत करेगा।

ट्रंप भारत में हर्ली डेविडसन बाइक पर लगाए जा रहे 50 फीसदी ड्यूटी को लेकर काफी नाराज हैं

वीरभान ने कहा कि उत्तर प्रदेश का पुलिस विभाग अपने अधीनस्थ कर्मियों तथा उच्च स्तरीय अधिकारियों को साइबर सुरक्षा संबंधी प्रशिक्षण दिलाने के प्रति बहुत गम्भीर है।

माइक्रोसॉफ्ट की सीनियर अटॉर्नी मीनू चंद्रा ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि तकनीकी सहायता के नाम पर होने वाली धोखाधड़ी आईटी उपभोक्ताओं के सामने सबसे बड़ा खतरा है।

जहां एक ओर हैकर्स के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है, वहीं तकनीकी सहायता के नाम पर होने वाली धोखाधड़ी पर नियंत्रण के लिये पुख्ता रणनीति बनाने की जरूरत है।
उन्होंने टेस्ला चीफ एलन मस्क के एक ट्वीट का हवाला देते हुए कहा, ‘चीन अमेरिकी कारों पर 25 फीसदी ड्यूटी लगाता है, जबकि अमेरिका में चीनी कारों के आयात पर केवल 2.5 फीसदी चार्ज किया जाता है।’

ट्रंप ने कहा कि ‘पारस्परिक टैक्स’ योजना अमेरिका के लिए फेयर ट्रेड डील को सुनिश्चित करेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस दौरान कई बार चीन का नाम लिया।

ट्रंप भारत में हर्ली डेविडसन बाइक पर लगाए जा रहे 50 फीसदी ड्यूटी को लेकर काफी नाराज हैं। हर्ली डेविडसन एक अमेरिकी कंपनी है और भारत में इसके बाइक्स की काफी बिक्री होती है।

ट्रंप ने बार-बार इस बात पर जोर दिया है कि भारत से आयात होने वाली मोटरसाइकिलों पर अमेरिका में जीरो टैक्स लगाया जा रहा है।

महिला संसद के आयोजन में पूजा शर्मा ने शिक्षा पर किये शानदार सवाल

 

भिलाई/छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग द्वारा महिला सशक्तिकरण पर 5 मार्च सोमवार को “महिला संसद” पं. दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम साइंस कालेज में 10 बजे से आरंभ हुई ।

जिसमें उत्तर और मध्य भारत की पहली महिला संसद..देश की आधी आबादी जो जननी है, शक्ति स्वरूपा है, ममता है, शक्ति का स्वरूप भी है, उनकी 100 प्रतिशत भागीदारी से संपन्न महिला संसद जिसमें महिलाव ने की देश की बातें, राजनीति की बातें, विकास की बातें, और उनसे जुड़े प्रश्न भी ।
इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह व अतिथि के रूप में महिला व बाल विकास मंत्री रमसीला साहू,ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर,राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा,छग राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडे मुख्य रूप से उपस्थित थे ।
इस कार्यक्रम में विपक्षी महिला संसद और जवाब दिया मंत्री पद पर आसिन (स्वरूप धारण की हुई) महिला मंत्री ने ।
इस ऐतिहासिक आयोजन की परिकल्पना का श्रेय छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा श्रीमती हर्षिता पाण्डेय जी को जाता है। जिन्होंने एक नवीन सोच से इस आयोजन को साकार किया । डॉक्टर, वकील, अभिनेत्री, समाजसेवी, प्राध्यापक, जनप्रतिनिधि, स्टूडेंट, अथवा गृहिणी इन सबको सप्ताह भर में प्रशिक्षत करना अपने आप में बड़ा कठिन कार्य रहा। कई खट्टे-मीठे अनुभव हुए अंतोगत्वा यह आयोजन साकार रूप में मंच में संपन्न हुआ । इस वृहद आयोजन में विपक्षी सांसद की भूमिका में भिलाई की पूजा शर्मा द्वारा शिक्षा पर किये गए सवाल काफी प्रभावी व शानदार रहे । उन्होंने बालिका शिक्षा के साथ सर्वशिक्षा अभियान के सम्बंधित सवाल किए ।
कार्यक्रम में पूरे देश के 20 राज्यो की महिला आयोग की अध्यक्ष ने हिस्सा लिया व कार्यक्रम को लगभग 1500 लोंगो ने प्रत्यक्षरूप से देखा व आयोजन कि सराहना की ।

राहुल गांधी ने किया खुलासा, 2019 में सत्ता में आए तो सबसे पहले करेंगे यह काम…

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि 2019 में सत्ता में आने पर पार्टी आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देगी. आम आदमी पार्टी ने भी इस मांग का समर्थन किया है.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि 2019 में सत्ता में आने पर पार्टी आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देगी. आम आदमी पार्टी ने भी इस मांग का समर्थन किया है. आंध्रप्रदेश के लिए विशेष दर्जा की मांग करते हुए जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं के एक समूह से उन्होंने कहा, ‘आंध्रप्रदेश को हम विशेष राज्य का दर्जा देंगे. 2019 में सत्ता में आने के बाद हम यह पहला काम करेंगे.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे विश्वास है कि हम एकजुट होते हैं तो हम भारत सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विश्वास दिला सकते हैं कि आंध्रप्रदेश के लोगों का हक उन्हें दिया जाना चाहिए.’ बाद में उन्होंने ट्वीट किया, ‘यह मेरा विश्वास है कि विपक्ष अगर इस मुद्दे पर एकजुट होता है तो हम भाजपा सरकार को आंध्र के लोगों के साथ न्याय करने के लिए दबाव बना सकते हैं.’ आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती ने भी प्रदर्शन में हिस्सा लिया. उन्होंने कहा कि वह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तरफ से समर्थन जताने आए हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं दिल्ली के मुख्यमंत्री के समर्थन के संदेश के साथ आया हूं. इस मुद्दे को कांग्रेस संसद के अंदर या बाहर जहां भी उठाएगी वहां आप उसका समर्थन करेगी.’ हालांकि तेलुगुदेशम पार्टी (तेदेपा) केंद्र में राजग सरकार का हिस्सा है, लेकिन इसके नेता ‘आंध्रप्रदेश की उपेक्षा’ के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. विपक्षी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने घोषणा की है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी जाती हैं तो इसके सभी पांच सांसद छह अप्रैल को इस्तीफा दे देंगे.
पूर्ववर्ती आंध्रप्रदेश के बंटवारे के बाद यह मांग उठाई गई थी.

 

केंद्र सरकार ने 2016 में आंध्रप्रदेश के लिए ‘विशेष पैकेज’ की मांग की थी, लेकिन तेदेपा सरकार ने दावा किया कि इस पैकेज के तहत कोई कोष जारी नहीं किया गया. इससे आंध्रप्रदेश के लिए विशेष दर्जा की मांग तेज होने लगी है.

नीरव मोदी की दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका, संपत्तियां सील करने के आदेश को चुनौती

पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी ने याचिका में धनशोधन निवारण अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) प्रावधानों को चुनौती दी

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक के साढ़े बारह हजार के घोटाले में आरोपी नीरव मोदी ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की है. याचिका में धनशोधन निवारण अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) प्रावधानों को चुनौती दी गई है. नीरव मोदी ने उनकी चल-संपत्तियों को सीज करने संबंधी आदेश को रद्द करने की मांग की है.

दिल्ली हाईकोर्ट में नीरव मोदी की संपत्तियों को पीएनबी के साथ जब्त करने के आदेश को चुनौती दी गई है. कोर्ट से नीरव के खिलाफ सर्च वारंट की कॉपी देने का आग्रह किया गया है. याचिका में ईडी द्वारा दर्ज एन्फोर्समेंट केस इन्फर्मेशन रिपोर्ट (ईसीआईआर) की कॉपी देने की मांग की गई है. ईडी द्वारा सर्च व प्रॉपर्टी आदि सीज करने को लेकर गाइडलाइन बनाने की मांग की गई है.