Category: ई पेपर सबका संदेश

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने किया सबका संदेश डॉट कॉम विमोचन

सबका संदेश न्यूज
sabkasandesh.com

आज दिनांक 18 मार्च 2018 को सबका संदेश डॉट कॉम का विमोचन माननीय मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के द्वारा  राजनानदगाव अपने निवासःमें “सांसद माननीय अभिषेख  सिह” व “लोकप्रिय महापौर मधुसूदन यादव जी” की उपस्थिति में राजननंदगाव में सम्पन्नन हुआ। बेमेतरा के बेरला ब्लाक के रिपोर्टर टिकेश साहू ने लेपटॉप से सबका संदेश की पूरी जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री जी से समाचार को प्रकाशन के विमोचन को करवाया डॉ रमन सिंह ने सबका संदेश के सम्पादक अभिताब नामदेव से खबरों की प्रशंसा करते हुए बीते दिनों की याद ताजा की,

और इस अवसर पर राजननंदगाव के वरिष्ठ पत्रकार श्रीरामचंद्र (मंजू बुक सेल्स)  रिपोर्टर सबका संदेश लक्मन यादव , राजेन्द्र नामदेव ,भोला यादव {प्रेसीडेंट यादव समाज},जैन समाज के युवा सदस्य व सबका संदेश रिपोर्टर रवि जैन सहित सैकड़ों की उपस्थिति में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। 

कार्यक्रम को समापन की ओर बढ़ाते हुए संपादक अभिताब नामदेव ने माननीय मुख्यमंत्री जी व युवा सांसद अभिषेक सिंह एवम भाजपा के सबसे एक्टिव व जन जन के प्रिय माननीय मधुसूदन यादव जी, एवम कवर्धा भाजयुमो अध्यक्ष माननीय कैलाश चंद्रवंसी जी का आभार व्यक्त किया।एवम सभी सम्मानित उपस्थित रिपोर्टरों से देश भक्ति को ध्यान में रखकर समाचार लिखने की सलाह दी।

 

आपको शराब पीकर वाहन चलाना महंगा पड़ सकता है : सख्त हुई जिले की पुलिस

दुर्ग ! शराब पीकर वाहन चलाने से हो रही दुर्घटना की रोकथाम हेतु डॉ संजीव शुक्ला पुलिस अधीक्षक दुर्ग के निर्देष एवं श्री शशि मोहन सिंह अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दुर्ग शहर के नेतृत्व में जिले में शराब पीकर वाहन चलाने वालों के विरूद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही की गई । इसके लिये जिले के सभी थाना क्षेत्र के महत्वपूर्ण मार्गों पर एल्कोहल मीटर से वाहन चालकों को चेक किया गया । लगभग 35 वाहन चालक शराब पीकर वाहन चलाते पाये गये, जिनके विरूद्ध मोटर व्हीकल एक्ट के अन्तर्गत कार्यवाही की गई है । कुम्हारी से 2, सुपेला-2, नेवई-5, मोहन नगर 4, दुर्ग 3, पद्मनाभपुर 2, अण्डा, 4, नंदनी 2, खुर्सीपार , जामुल, स्मृतिनगर से 1-1 एवं यातायात से 08 कार्यवाही की गई है। श्री शषि मोहन सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, शहर, दुर्ग व्दारा बताया गया कि वाहन दुर्घटना की रोकथाम हेतु शराब पीकर वाहन चलाने वालों के विरूद्ध जिले में अभियान चलाकर कार्यवाही की गई है । यह अभियान लगातार चलाया जाएगा । वाहन चालकों से अपील है कि किसी भी स्थिति में शराब पीकर वाहन न चलाए ।

चारा घोटाला: लालू को साढ़े 3 साल की कैद,

 हजारीबाग ओपन जेल में 15 कैदियों के साथ काटेंगे सजा

चारा घोटाला के देवघर कोषागार मामले में दोषी करार दिए गए आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को साढ़े 3 साल की सजा सुनाई गई है. साथ ही लालू को 5 लाख रुपये जुर्माना भी लगाया गया है. जबकि जगदीश शर्मा समेत 6 को 7 साल की सजा सुनाई गई है और 10 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है.

लालू समेत सभी दोषियों को हज़ारीबाग़ की ओपन जेल में रखा जाएगा. लालू के वकील प्रभात कुमार ने बताया कि सोमवार को उन्हें कोर्ट से फैसले की कॉपी मिलेगी. उसे पढ़ने के बाद वो हाईकोर्ट में जमानत के लिए अपील करेंगे.

सजा सुनाये जाने के बाद लालू यादव के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया है जिसमें उन्होंने खुद बेगुनाह साबित करने की कोशिश की है, लालू की मानें तो वो सामाजिक न्याय के लिए लड़ रहे हैं, जिसकी सजा उन्हें ये मिल रही है.

सीबीआई कोर्ट ने 90 लाख की निकासी के मामले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई है. लालू यादव को प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत सजा दी गई है. 5 लाख का जुर्माना भी भरने को कहा गया है. सजा की मियाद साढ़े तीन साल तय कर सीबीआई कोर्ट ने बेल का रास्ता भी बंद कर दिया. लालू यादव को अब हाईकोर्ट से ही जमानत मिल पाएगी.

विशेष अदालत के जज लालू पर सख्त थे. जज साहब ने कहा कि ये गोपालक हैं. चारा घोटाला किया है, लिहाज़ा हजारीबाग के ओपन जेल में इन्हें रखा जाए ताकि इन्हें अपने गुनाह का एहसास हो सके. लालू यादव ने सजा के बाद ट्वीट किया.

एक युग का अंत हो गया

युग के अंत की शुरुआत तो तभी हो गई थी, जब लालू यादव पर घोटाले का पहला दाग लगा था, और लालू यादव पहली बार जेल की सलाखों के पीछ पहुंचे थे. मगर इस सज़ा के ऐलान के पहले लालू यादव के भीतर बेचैनी थी. दोषी का ठप्पा माथे पर मढ़ा जा चुका था. धुकधुकी बढ़ती जा रही थी कभी बीमारी, कभी शारीरिक लाचारी, कभी मौसम की मार का हवाला देते लालू कोर्ट के सामने लगभग गिड़गिड़ाते रहे. लेकिन अदालत भावनाएं नहीं सबूत के आधार पर चलती हैं, और सबूत कह रहे थे कि लालू यादव जेल में रहेंगे.

अब लालू यादव का राजनीतिक भविष्य भी उनके साथ जेल की दीवारों में कैद है, ऐसे में समर्थकों में हौसला भरने की कोशिश का बीड़ा तेजस्वी ने उठाया. लालू और उनके शुभचिंतक अब हाईकोर्ट पर टकटकी लगाएंगे. लेकिन लालू विरोधियों के लिए नए साल का इससे बेहतर तोहफा कुछ और नहीं हो सकता है. अब बिहार की राजनीति का नया अध्याय क्या होगा, कैसे संभलेगी आरजेडी, क्या जेल के भीतर से लालू यादव अपना रुतबा कायम रख सकेंगे, सब सवालों के घेरे में है.रांची की सीबीआई अदालत से लालू यादव समेत सभी 16 दोषियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुनाया गया. लालू रांची की बिरसा मुंडा जेल में बंद हैं. जुर्माना नहीं देने पर 6 महीने की अतिरिक्त सजा काटनी होगी.                                                                   

लालू रहे थे खामोश

शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए हुई सुनवाई के दौरान लालू प्रसाद पूरी तरह चुप रहे थे. उनके अधिवक्ता चितरंजन प्रसाद ने न्यायाधीश से आग्रह किया कि लालू की उम्र 70 वर्ष हो गई है. वह शारीरिक रूप से अस्वस्थ हैं. उन्हें हाईपर टेंशन और डायबिटीज है. 21 सालों से केस लड़ रहे हैं. इसलिए इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए लालू प्रसाद को कम से कम सजा दी जाए.

वहीं सीबीआई के अधिवक्ता ने इस पर विरोध जताते हुए कहा कि लालू राजनीति में सक्रिय हैं. रैलियां और भाषण कर रहे हैं. इसलिए नहीं लगता कि बहुत बीमार हैं. जेल में भी मेडिकल की सुविधाएं उपलब्ध हैं. वह मुख्य आरोपी हैं. इसलिए उन्हें ज्यादा से ज्यादा सजा दी जाए.

बता दें कि सीबीआई की विशेष अदालत ने 23 दिसंबर को चारा घोटाले के एक मामले में लालू यादव को दोषी ठहराया था.

ट्रंप ने पाक को सभी मदद रोकने के अमेरिकी सेनेटर के प्रस्ताव पर दी प्रतिक्रिया

good idea: trump responds to senator rand paul’s proposal to stop all aid to pakistan

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप
वॉशिंगटन
अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंपआतंकवाद पर पाकिस्तान के रवैये से बेहद नाराज हैं। नए साल के पहले दिन जमकर खरी-खोटी सुनाने के बाद अब उन्होंने पाकिस्तान को मिलने वाली पूरी अमेरिकी मदद को ही समाप्त करने का मन बना लिया है। दरअसल, अमेरिकी सेनेटर रैन पॉल ने शुक्रवार को ट्वीट कर पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद में थोड़ी कटौती नहीं बल्कि संपूर्ण अमेरिकी मदद ही रोकने का प्रस्ताव रखा। इस पर राष्ट्रपति ट्रंप अपनी पार्टी के साथी को जवाब देने से खुद को रोक नहीं पाए। ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘गुड आइडिया रैन!’।

इन देशों में नए साल ने दी दस्तक, धूमधाम से मनाया जा रहा है न्यू ईयर

दिल्ली. पूरा देश न्यू ईयर सेलिब्रेशन में जुटा है. लोग अपने परिचितों को पुराना साल बीतने और नया साल आने की बधाई देने में जुटे हैं. हममें से ज्यादातर को रात 12 बजे का इंतजार है जब लोग पुराने साल को अलविदा कहकर नए साल का स्वागत कर सकें. पर आपको पता है कि कुछ देशों में हमसे आठ घंटे पहले नया साल मनाया जा चुका है.

हममें से ज्यादातर लोग रात 12 बजे का इंतजार कर रहे हैं लेकिन आपको शायद ही पता हो कि हमसे कई घंटे पहले नया साल कुछ देशों के लोग मना चुके हैं वो भी ढेर सारे सेलिब्रेशन के साथ. दुनिया के बेहद गुमनाम और छोटे से देशों टोंगा, सामोआ और किरिबाती में हमसे करीब आठ घंटे पहले ही नया साल दस्तक दे चुका है. इन देशों के लोग अपने अपने तरीके से न्यू ईयर सेलिब्रेशन मना चुके हैं. सबसे खास बात ये है कि अमेरिका का गुमनाम और निर्जन द्वीप बेकर आईलैंड ऐसी जगह होगी जहां नया साल सबसे आखिरी में दस्तक देगा. टोंगा के बाद न्यूजीलैंड वो देश होगा जहां न्यू ईयर मनाया जाएगा. उसके बाद आस्ट्रेलिया औऱ अन्य देशों का नंबर आएगा.

रायपुर के होटल में बिरयानी में कुत्ते का मांस परोसे जाने का सच

रायपुर. रायपुर में  एक खबर लगातार सोशल मीडिया में वायरल हो रही है. जिसमें बताया जा रहा है कि रायपुर के मॉमिनपारा के एक होटल में मटन बिरयानी में कुत्ते का मांस परोसा जा रहा है. खबर के साथ कुछ तस्वीरें भी शेयर की गइ है. जिसमें कुत्ते को चिकन या मटन की तरह काटा जा रहा है. तस्वीरें जमकर शेयर की जा रही है.खबर की जब हमने पूरी पड़ताल की तो ,तो सच्चाइ चौंकाने वाली थी.

दरअसल ये  तसवीरें 2016 से इन्टरनेट पर वायरल हो रही हैं. पहला मामला दिसम्बर 2016 का है. जिसमें हैदराबाद के एक होटल में बिरयानी में डॉग मीट परोसे जाना का मामला सामने आया था. जनवरी 2017 में फिर से कानपुर से भी डॉग मीट परोसे जाने की खबर आई. खबर अलग-अलग जगहों से अलग-अलग समय पर आइ थी.लेकिन तस्वीरें वहीं थी और अब वहीं तस्वीरें कल  फिर से वायरल हो रही हैं. जिनमें बताया जा रहा है कि रायपुर में भी डॉग मीट परोसा गया है. ये खबर पूरी तरह से फर्जी खबर है. सोचने वाली बात ये है कि बार-बार इस तरह की अफवाह फैलाई जा रही है और लोग  बिना सोचे-समझे इसे वायरल भी कर रहे हैं.

मौत के लाइव वीडियो को देखकर रुह कांप जाएगी आपकी, कमज़ोर दिलवाले न देखें

अररिया, बिहार। जो लोग बिहार नहीं गए या बाढ़ प्रभावित इलाके में नहीं रहे उनके लिए बिहार में बाढ़ की विभीषिका केवल एक खबर है. वहां हो रही मौतें महज़ एक आंकडे हैं. लेकिन वहां लोग कैसे इस विभीषका को झेलते हैं. कैसे पल-पल मौत और जिंदगी के बीच जूझते हुए ज़िंदगी जीते हैं. ये समझना है तो इस वीडियो को देखिए. आपकी रुह कांप जाएगी, अगर आप जरा भी संवेदनशील हुए तो. लेकिन फिर से एक गुज़ारिश इस वीडियो को कमज़ोर दिल वाले न देखें

वीडियो में आप देखेंगे कि कैसे एक महिला पति की जरा सी लापरवाही के चलते अपने बच्चे के साथ बाढ़ में बह जाती है. सैकड़ों लोग वहां खड़े रहते हैं लेकिन सब लाचार. न कोई वहां रेस्क्यू है न ही लोगों के पास साधन कि महिला को बचाने की कोशिश भी करें.

कमज़ोर दिल वाले इस वीडियो को न देखें

व्यापारी के बेटे का अपहरण, अपहरणकर्ताओं ने मांगी ये रकम, फिर…

सरसींवा थाना क्षेत्र के एक व्यापारी के बेटे को अगवा किये जाने की खबर से हड़कम्प मच गया. बेटे को अगवा करने वालो ने व्यापारी से तीन लाख की फिरौती की मांग की. इसी बीच पुलिस ने योजनाबंद्ध तरीके से कार्रवाई करते हुए अगवाकर्ता को ​गिफ्तार कर उनके चंगुल से व्यापारी के बेटे को सकुशल आजाद करा लिया. साथ ही अगवा करने के लिए उपयोग किये गये वाहनों को भी पुलिस ने जप्त किया है.

बालपुर के चन्द्रा राइस मिलर पुनेश्वर चंद्रा के बेटे नरेश कुमार चंद्रा का 26 दिसम्बर को कुछ लोगों ने अपरहण कर लिया और पुनेश्वर को फोन कर अपरहणकर्ता ने नरेश को छोड़ने के बदले में 3 लाख की फिरौती की मांग की. जिसकी जानकारी पुनेश्वर ने सरसीवा थाने को दी गई.