भिलाई में राष्ट्रीय अग्निशमन सेवा दिवस समारोह संपन्न

जवानों ने दिखाएं विभिन्न प्रकार के करतब

????????????????????????????????????

भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के अग्निशमन सेवाएँ विभाग के मुख्य अग्निशमन सेवा केन्द्र परिसर में रविवार 14 अपै्रल को राष्ट्रीय अग्निशमन सेवा दिवस समारोहपूर्वक मनाया गया। समारोह में संयंत्र के कार्यकारी मुख्य कार्यपालक अधिकारी पी के दाश ने मुख्य अतिथि के रूप में गरिमामयी उपस्थिति प्रदान की। राष्ट्रीय अग्निशमन सेवा दिवस के अवसर पर इस वर्ष भारत सरकार, गृह मंत्रालय द्वारा अग्निशमन सेवा दिवस की थीम है। आग बुझाने से बेहतर, आग की रोकथाम।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय अग्निशमन सेवा दिवस, 14 अपै्रल, 1944 के दिन मुम्बई डाकयार्ड में हुए भीषण अग्निकांड में जन-धन की रक्षा करते हुए वीरगति को प्राप्त 66 अग्निवीरों और विभिन्न अग्नि दुर्घटनाओं में शहीद होने वाले देश के अग्निवीरों की याद में मनाया जाता है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्री दाश एवं उपस्थितजनों ने शहीद अग्निशमन कर्मियों को पुष्पांँजलि अर्पित कर दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांँजलि दी। मुख्य अतिथि द्वारा अग्निशमन कार्मिकों के परेड की सलामी ली और निरीक्षण भी किया। इस दौरान अग्निशमन कार्मिकों ने देश और संयंत्र के प्रति पूर्ण निष्ठा और समर्पण से कार्य करने की शपथ ली।

इस अवसर पर संयंत्र के कार्यपालक निदेशक वित्त एवं लेखा बी पी नायक, कार्यपालक निदेशक एस के खैरूल बसर, निदेशक प्रभारीडॉ एस के इस्सर, कार्यपालक निदेशक कार्मिक एवं प्रशासन के के सिंह एवं महाप्रबंधक सुरक्षा एवं अग्निशमन सेवाएँ  सुरेन्द्र सिंह उपस्थित थे। इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित डीआईजी सीआईएसएफ यू के सरकार, नगर निगम, भिलाई के आयुक्त श्री एस के सुन्दरानी एवं एसडीएम, भिलाई श्री अतुल विश्वकर्मा ने विशेष रूप से आयोजित अग्निशमन शो का आनंद उठाया।

समारोह में संयंत्र के उच्च अधिकारियों की धर्मपत्नी और परिजन उपस्थित थे। इसके अलावा इस अवसर पर संयंत्र के वरिष्ठ अधिकारीगण, ओए प्रतिनिधि, प्रेस प्रतिनिधि, विभागीय अधिकारी व कर्मचारीगण तथा बड़ी संख्या में इस्पात बिरादरी के सदस्य उपस्थित थे।

आयोजित परेड की सलामी लेने और परेड का निरीक्षण करने के बाद इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्य अतिथि श्री दाश ने समस्त अग्निशमन शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि राष्ट्र के जन-धन की रक्षा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान देने वाले सभी वीरों को मेरा नमन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *