राउत नाच महोत्सव ने लोगों को किया आश्चर्यचकित

मुंह में तीन हलों को उठाकर दिखाया शौर्य

कार्यक्रम में पहुंचे पूर्व सीएम जोगी ने कहा राउत नाचा को राजकीय नृत्य का मिले दर्जा

दुर्ग। नगर के उरला में योद्घा नर्तन राउत नाच महोत्सव में छत्तीसगढ़ से आई विभिन्न मंडलियों ने अपनी संस्कृति और विरासत को संजोते हुए भगवान श्रीकृष्ण से जुड़े प्रसंगों को नृत्य और शौर्य के जरिए प्रस्तुत किया। आपस में लठ्ठ मारे तो किसी दल के प्रतिभागी ने अपने मुंह में तीन हलों को उठाकर शौर्य दिखाया। सांस्कृतिक यादव प्रांगण उरला में आयोजित यह महोत्सव यादव संघ मित्र कल्याण मंडल व राज्यशासन के सांस्कृतिक विभाग के सहयोग से हुआ। इस महोत्सव में प्रदेश के विभिन्न स्थानों से 51 राउत नर्तक दल शामिल हुए। दुर्ग के बैगापारा, जामुल, बघेरा, गुरूर, बालोद, बिलासपुर, रायपुर, धमतरी, राजनांदगांव, महासमुंद सहित अन्य स्थानों के दलों यहां शिरकत की। महोत्सव में प्रतिभागी मंडलियों के प्रदर्शन का आकंलन करने निर्णायक की भूमिका बिसे यादव, खिलेश यादव ओर पवन यादव ने निभाई। महोत्सव में पंडवानी की भी धूम रही। पंडवानी गायिका जामुल की सुरेखा निषाद ने महाभारत के उस प्रसंग का बखान पंडवानी के माध्यम से की जिसमें भगवान श्रीकृष्ण व जामवंत का युद्घ जैसे संवाद होते हैं। बिलासपुर की टोली ने आकर्षक दृश्य में मुंह में एक साथ तीन हल को उठाकर प्रदर्शन करना रहा। उन्होंने नृत्य में युद्घ का भी समावेश दिखाया। दस लोगों के बीच ल_ मारकर कैसे आत्मरक्षा करें इसका प्रदर्शन जयभीम अखाड़ा कपसदा के दल ने किया।

प्रसिद्ध फिल्कार सुंदरानी बनायेंगे इस पर फिल्म

महोत्सव में विशेष अतिथि के रूप में छत्तीसगढ़ी फिल्म निर्माता व निर्देशक मोहन सुंदरानी ने कहा कि वे राउत गीत, नृत्य और उनकी परंपरा को संर्वधन करने के लिए एक फिल्म बनाएंगे। इस फिल्म को वे अपने यू ट्यूब के जरिए पूरे देश और विदेश में ख्याति दिलाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि राउत समाज के कलाकारों को आगे बढ़ाने के लिए उनके नृत्य व कला को विशेष दर्जा भी देने की जरूरत है। महोत्सव में बतौर विशेष अतिथि के रूप में विधायक अरूण वोरा, महापौर चंद्रिका चंद्राकर शामिल हुई। इस मौके पर यादव समाज के प्रदेश अध्यक्ष मेघनाथ यादव, झेरिया यादव समाज के प्रदेश अध्यक्ष जगणीक यादव और गहिरा गुरू राजेश यादव ने आयोजन पर प्रकाश डाला। उन्होंने इस महोत्सव से यादवों की लोक संस्कृति व परंपरा को जीवित रखने और युवाओं को जोडऩे की सहारना की।

राउत नाचा को राजकीय नृत्य का दर्जा मिले- जोगी

योद्धा नर्तन के समापन समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी पहुंचे। उन्होने शिक्षा, संस्कार और सामाजिक एकजुटता से ही समाज के विकास की बात कही। उन्होने कहा कि राउत नाचा को राजकीय नृत्य का दर्जा मिलना चाहिए। इसके लिए वे विधानसभा से लेकर लोकसभा और आगे जहां भी लड़ाई लडऩी पड़े लड़ेंगे।  कार्यक्रम में मुख्य रूप से  फूलबासन बाई यादव, प्रदेश अध्यक्ष मेघनाथ यादव मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *