आमरण अनशन का आज दिनाँक 14/01/2020 दिन मंगलवार को सातवें दिन भी जारी है

रमेश मित्तल की रिपोर्ट दल्लीराजहरा

आंदोलन के सातवें दिन आज दिनाँक 14/01/2020 को जिला कलेक्टर बालोद के सभागार में त्रीपक्षीय बैठक रखा गया जिसमें बालोद जिला के शासन प्रशासन के अधिकारी जिला कलेक्टर श्रीमति रानू साहू, अपर कलेक्टर वाजपेयी  , स्थानीय अधिकारी तहसीलदार , अनुविभागीय अधिकारी , CSP , और बी.एस.पी. के जी एम तपन सूत्रधार , मण्डल , ठाकुर  के साथ और भी BSP के अधिकारी मौजूद थे, और आंदोलनकारियो की ओर से प्रतिनिधी मण्डल में कॉमरेड बसन्त रावटे, कॉमरेड ए के मण्डल, कॉमरेड ईशवर निर्मलकर, कॉमरेड महेंद्र कयलदीप उपस्थित थे,

इस त्रीपक्षीय बैठक में किसी भी प्रकार की सकारात्मक हल नही निकलने के कारण यह आमरण अनशन चालू रहेगा यह निर्णय जनमुक्ति मोर्चा के पदाधिकारियों आंदोलकारी साथियो द्वारा लिया गया

यह आन्दोलन जिला कलेक्टर के आदेश जो कि 08/08/2019 को जिला कलेक्टर मैडम  के द्वारा दिये गए आदेश का पालन कराने के लिए,BSP प्रबंधन द्वारा सन्चालित महामाया माइंस से निकलने वाले लाल पानी, से प्रभावित किसानों के द्वारा जन मुक्ति मोर्चा छत्तीसगढ़ के नेतृत्व में आमरण अनशन दिनाँक 08/01/2020 से लगातार आमरण अनशन पर बैठे है

 

जनमुक्ति मोर्चा के द्वारा प्रभावित किसानों की मांग के लिए जारी है धरना

जनमुक्ति मोर्चा के द्वारा लाल पानी से प्रभावित किसानों की मांगों के लिए दल्ली राजहरा एसडीएम कार्यालय के सामने विगत 8 जनवरी 2020 से धरना प्रदर्शन किया जा रहा है जिसमें ग्राम कुमुरकटां के प्रभावित किसान परिवार व जनमुक्ति मोर्चा के सदस्य उपस्थित हैं लाल पानी से प्रभावित किसानों के द्वारा बीएसपी प्रशासन व जिला प्रशासन को कई बार लिखित आवेदन देकर प्रभावित किसानों की समस्याओं से अवगत कराया जिस पर बीएसपी प्रशासन एवं राजस्व प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा प्रभावित किसानों को सर्वे कराया गया जिसमें प्रभावित किसानों को काम पर रखने के लिए दिनांक 30 जुलाई 2019 को ग्राम कुमुरकटा (महामाया ) में चक्का जाम किया गया जिसमें तहसीलदार बी एस पी के अधिकारी, दल्ली राजहरा व महामाया थाने के पुलिस अधिकारी एवं सीएसपी स्वयं  मौजूद थे जिस पर यह समझौता हुआ की दिनांक 8 अगस्त 2019 को कलेक्टर कार्यालय बालोद में एक बैठक रखी जाएगी जिसमें सर्वसम्मति से फैसला लिया जाएगा इसी आश्वासन उपरांत जनमुक्ति मोर्चा व प्रभावित किसानों के द्वारा चक्का जाम स्थगित कर दिया गया।।

दिनांक 8 अगस्त को कलेक्टर कार्यालय जिला बालोद में एक त्रिपक्षीय  बैठक रखी गई जिसमें जनमुक्ति मोर्चा के पदाधिकारी बीएसपी के पदाधिकारी तहसीलदार राजस्व अधिकारी मौजूद थे जिसमें सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया कि 30 सितंबर तक अति प्रभावित 10 किसानों को काम पर लिया जाएगा।

शेष प्रभावित किसानों को माह दिसंबर 2019 के अंत तक काम पर ले लिया जाएगा लेकिन आज दिनांक तक किसी भी प्रभावित किसानों को काम पर नहीं लिया गया है इसलिए जनमुक्ति मोर्चा के द्वारा शासन प्रशासन बीएसपी प्रशासन की वादाखिलाफी के खिलाफ दिनांक 8 जनवरी 2020 से एसडीएम कार्यालय के सामने जैन भवन चौक में प्रभावित किसान व जन मुक्ति मोर्चा के पदाधिकारी व सदस्यों के द्वारा किया जा रहा है

इस आंदोलन को बीते दिनों वार्ड नंबर 24 के पार्षद व भाजपा अध्यक्ष प्रत्याशी रहे बॉबी छतवाल ने आंदोलन स्थल पर जाकर समर्थन किया इसी कड़ी में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षा श्रीमती संगीता नायर व कांग्रेस के पदाधिकारी ने इस आंदोलन को समर्थन प्रदान किया वही पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष रवि जायसवाल ने भी धरना स्थल पर जाकर इस आंदोलन का समर्थन किया समर्थन की इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के पूर्व विधायक जनक लाल ठाकुर व संयुक्त मोर्चा के श्याम जयसवाल ने  भी इस आंदोलन का समर्थन किया है

मेरे द्वारा जनमुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष जीत हुआ नियोगी से चर्चा किया जिस पर उन्होंने कहा की राजस्व अधिकारी व बीएसपी के अधिकारी की सर्वे सूची में जिन प्रभावित किसानों के खेत बर्बाद हो चुके हैं उन किसानों को काम पर रखा जाए इसके लिए यह आंदोलन किया जा रहा है। ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *