चुनाव प्रक्रिया मे सेक्टर अधिकारियों की भूमिका महत्वपूर्ण

छत्तीसगढ़ बेमेतरा :- जिले में त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2019-20 स्वतंत्र निष्पक्ष निर्विघ्न एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिए जिले के सभी चार विकासखण्डो में कुल 79 कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (पंचायत) श्रीमती शिखा राजपूत तिवारी ने सेक्टर अधिकारियो की नियुक्ति की गई है। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा सेक्टर अधिकारियों के कर्तव्य एवं दायित्व संबंधी दिशा निर्देश जारी किये गये है। मतदान दलो के प्रशिक्षण के दौरान उन्हे प्रशिक्षण केन्द्र पर उपस्थित रहकर प्रशिक्षण भी प्राप्त करना चाहिए ताकि आवश्यकता अनुसार वे मतदान दल का मार्गदर्शन भी कर सके। मतदान के पूर्व सेक्टर अधिकारी अपने सेक्टर के अंतर्गत आने वाले पोलिंग बूथ का कम से कम दो बार मौका-मुआयना कर लेवें। इस दौरान पहुंच मार्ग फर्नीचर, पेयजल एवं प्रकाश की व्यवस्था आदि देख लेवें। सेक्टर अधिकारी के प्रभार क्षेत्र के मतदान केन्द्रो के लिए जिस दिन निर्वाचन सामग्री वितरित की जाय उस दिन उन्हे वितरण केन्द्र पर स्वंय उपस्थित रहना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रत्येक दल ने आवश्यक सामग्री प्राप्त कर ली है और उसकी भली भांति जांच भी कर ली है।
मतदान दलो की निर्धारित तारीख और व्यवस्था के अनुसार अपने गंतव्य के लिए रवाना कराने का दायित्व सेक्टर अधिकारी का ही है। यदि किसी दल में कोई पीठासीन अधिकारी/मतदान अधिकारी अनुपस्थित हो तो उसके स्थान पर एवजीदार को भेजी जाने की व्यवस्था भी वे ही करेंगे। मतदान दलो के प्रस्थान करने के पश्चात सेक्टर अधिकारी को स्वंय भी उनके पीछे-पीछे मतदान केन्द्र का भ्रमण करे। जब सभी पोलिंग दल पहुंच जाये तो इसकी सूचना ओके रिपोर्ट के जरिये रिटर्निंग आॅफिसर को दे। यदि किसी केन्द्र में व्यवस्था संबंधी कोई कमी रह गई हो तो उसे स्थानीय तौर पर पटवारी राजस्व निरीक्षक पंचायत सचिव आदि के मदद से निपटाया जाना चाहिए। सेक्टर अधिकारी को अपने साथ रिजर्व दल में से दो मतदान अधिकारियों को भी अपने वाहन में बैठाकर ले चलना चाहिए ताकि किसी भी अप्रत्याशित स्थिति को तत्परता से सामना किया जा सके। भ्रमण के दौरान किसी मतदान केन्द्र पर यदि यह देखे कि पीठसीन अधिकारी द्वारा कोई कठिनाई अनुभव की जा रही है तो सकेक्टर अधिकारी को उसके निराकरण में उसकी यथावश्यक सहायता की जानी चाहिए। सेक्टर अधिकारी को मतदान प्रक्रिया के दौरान नियत समय पर निर्धारित प्रपत्र में रिटर्निंग आॅफिसर के माध्यम से जिला निर्वाचन अधिकारी को अवगत कराना चाहिए। चुनाव प्रक्रिया मे सेक्टर अधिकारी की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है वह पीठासीन अधिकारी के बीच सेतु का काम करता है।

सबका संदेश टिकेश्वर साहू 9589819651 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *