हथबंध में जुआ, सट्टा व अवैध शराब का जोर

सबका संदेस न्यूज़ छत्तीसगढ़ सिमगा- जनपद पंचायत सिमगा के अंतर्गत ग्राम पंचायत हतबंध फिर से सुर्खियों में है। यहां अवैध कारोबार को बंद करने के लिए सिमगा थाना के अंतर्गत हतबंध में पुलिस सहायता केंद्र खोला गया है लेकिन यहां उल्टी ही गंगा बह रही है। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस सहायता केंद्र अपराधियों की शरण स्थली बन गई है। इस संबंध में हतबंध से एक प्रतिनिधिमंडल एसपी बलौदाबाजार से शीघ्र मिल कर यहां के हालात की चर्चा करने वाले हैं।

सरपंच प्रतिनिधि रामसुधार जांगड़े का कहना है कि हतबंध में जब से सहायता केंद्र खुला है तब से लेकर आज तक यहां अवैध शराब, गांजा, जुआ सट्टा खुलेआम संचालित हो रहा है। जिससे गांव का माहौल खराब हो रहा है। अनेकों बार उच्च अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं लेकिन व्यवस्था जस की तस बनी हुई है। महज दिखावे के लिए पुलिस छोटी मोटी कार्रवाई करती है। लेकिन यह समस्या व नशे का कारोबार हतबंध सहित रिंगनी, उडेला, धोधा, सीतापार, डोंगरिया, लावर सहित एक दर्जन गांवों में अपना जड़ फैला चुका है। यही नहीं शराब की तो घर पहुंच सेवा हो रही है। तिल्दा व सिमगा के शासकीय शराब दुकानों से कमीशन में कोचियों को बड़े पैमाने पर शराब उपलब्ध हो जाते हैं व 60 रुपये की शराब 150 रुपये में बेच रहे हैं। भाजयुमो के जिला अध्यक्ष व जनपद पंचायत सिमगा के अध्यक्ष आनंद यादव का हतबंध गृह ग्राम है। उन्होंने कहा कि गांव का माहौल दिनों दिन खराब होते जा रहा है। इन अवैध कारोबार को बंद करने की मांग मैंने कलेक्टर बलौदाबाजार व एसपी से अनेकों बार की थी। इसी तरह सिमगा व दरचुरा में भी जुए के बड़े फड़ संचालित हो रहे हैं फिर भी प्रशासन मौन है। उन्होंने कहा कि यदि अभी भी अवैध कारोबार पर रोकथाम नहीं हुआ तो फिर आंदोलन कर विरोध किया जाएगा। ज्ञात हो कि पूर्व में पदस्थ एक प्रभारी द्वारा हतबंध में 20 पेटी शराब प्रतिदिन कोचियों से बिक्री करवाता था। साथ ही भाटापारा के सटोरियों को बुला कर सट्टा भी संचालित करता था। जिसे तत्कालीन एसपी आरएन दास ने सस्पेंड कर दिया था। वहीं गत दिनों सिमगा टीआई हेमप्रकाश नायक के निर्देश पर एसआई ओमप्रकाश त्रिपाठी की टीम ने दो लाख से अधिक की सट्टा पट्टी सहित 19 हजार रुपये नगदी जब्त कर तीन सटोरियों को पकड़ा था।

 

 

 

विज्ञापन समाचार हेतु सपर्क करे-9425569117/9993199117

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *