माँ जगदम्बे के दरबार में विराट कवि सम्मेलन में हास्य की फुहारों पर लगे ठहाके

लक्ष्मणगढ़ शेखावाटी के मशहूर कवि हरीश शर्मा ने माँ के प्यार व ममत्व पर ऐसी रचनाएं पेश की,जिससे श्रोता हो उठे भाव विभोर

कवियों ने लूटी खूब वाहवाही, स्वागत करने में इंद्रदेव ने भी नही छोड़ी कोई कसर,यू लगा जैसे उन्हें भी अपनी माँ की याद आ गई हो

पाटोदा. गाडोदा मे शिवमठ गाडोदा धाम मैं मां जगदंबे के दरबार में विराट कवि सम्मेलन एक शाम गाडोदा के नाम में कभी हंसी के फव्वारे पर लगी ठहाके तो वीर रस की कविता पर भारत माता की जय कार से पांडाल गूंजा उठा। कार्यक्रम का शुभारंभ  शिवमठ गाडोदा धाम के महंत  महावीर यति महाराज के सानिध्य मे हुआ। मां जगदंबे के समक्ष दीप प्रज्वलित कर व माँ सरस्वती वंदना पर नृत्य पेश कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कवि सम्मेलन की शुरुआत लक्ष्मणगढ़ शेखावाटी के मशहूर हास्य कवि हरीश शर्मा ने गणेश व माँ भगवती की वंदना से की। कवि हरीश ने मां पर बहुत ही सुंदर कविताओं का ऐसा बखान किया कि सभी श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया।  पंडाल में बेठे सभी श्रोताओं व महंत महावीर यति महाराज की आंखें नम हो गई और श्रोतागण रो उठे। इतना ही नही कवि शर्मा द्वारा माँ के ममत्व व प्यार पर प्रस्तुत की गई रचनाओं पर ऐसा दृश्य देखने को मिला जैसे भगवान इंद्र को भी अपनी माँ की ममता याद आ गई, भगवान इंद्र ने भी बारिश की फुआरो के साथ जमकर स्वागत किया।  लक्ष्मणगढ के हास्य कवि प्रमोद झूरिया ने कहा कि मैंने तो सिर्फ एक लाइन में कही थी देखते ही देखते छंद हो गया। जुल्फों का गुलाल डब्बे में गुलकंद हो गया। धोद कवि रवि प्रकाश सोनी ने युवाओं को संदेश दिया कि मेहनत व संघर्ष करने से मंजिल जरूर मिलती है। कवि गणेश गुरु सैनी ने विभिन्न हास्य की कलाओं से दर्शकों को ठहाके लगाने को मजबूर कर दिया। कॉमेडियन निखिल सैनी ने एक से बढ़कर एक कॉमेडी पेश करते हुए खूब तालियां बटोरी । कवयित्री डॉक्टर निरुपमा उपाध्याय ने अपनी रचनाओं के माध्यम से संदेश देते हुए कहा कि एक देश में दो विधान का झंडा नहीं चलेगा छोड़ तिरंगा महान दूसरा झंडा नहीं चलेगा राष्ट्रवाद व अलका बाद में मेल नहीं हो सकता, इतना ही नही दीपावली के पावन पर्व पर पेश की गई रचनाओं से खूब वाहवाही लूटी। कार्यक्रम में हजारों की तादाद में श्रोतागण उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में लक्ष्मणगढ़ के मशहूर कवि हरीश शर्मा ने बेटा पढ़ाओ – संस्कार सिखाओ अभियान पर प्रकाश डालते हुए समाज के सामने अनेकों विचार पेश किए। बेटा पढ़ाओ – संस्कार सिखाओ अभियान को लेकर शानदार कवरेज करने वाले पत्रकार पप्पूलाल शर्मा को अभियान के आयोजनकर्ता कवि हरीश शर्मा व उनकी टीम के द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम समापन पर महंत महावीर यति महाराज व कार्यक्रम के आयोजनकर्ताओं को अभियान पर लिखित पुस्तक भेंट की गई।

कार्यक्रम में शिव मठ गाडोदा धाम के महंत महावीर यति महाराज,लक्ष्मणगढ़ शेखावाटी के मशहूर कवि हरीश शर्मा,हास्य कवि प्रमोद झुरिया,डॉक्टर निरुपमा उपाध्याय, कॉमेडियन निखिल सैनी, सीकर कवि गुरु गणेश सैनी, धोद कवि रविप्रकाश सोनी,संयोजक श्याम सुंदर अग्रवाल, हंसराज सेन, बनवारी, अंकित शर्मा, भवानी सिंह, पवन कुमार, बनवारीलाल माहिल, रामकिशोर गुर्जर, समेत कस्बे के सैकड़ों कविता प्रेमी के साथ-साथ हजारों की तादाद में श्रोतागण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *